-->
नक्सल पीड़ित परिवारों के बेरोजगार युवाओं को दिया जायेगा कौशल उन्नयन प्रशिक्षण, प्रशिक्षण प्राप्त होते ही मिलेगी नौकरी

नक्सल पीड़ित परिवारों के बेरोजगार युवाओं को दिया जायेगा कौशल उन्नयन प्रशिक्षण, प्रशिक्षण प्राप्त होते ही मिलेगी नौकरी

 

दीपक पुड़ो ब्यूरो प्रमुख छत्तीसगढ़ - कांकेर जिले के नक्सल पीड़ित परिवारों के बेरोजगार युवक-युवतियों को कौशल उन्नयन का प्रशिक्षण दिया जायेगा तथा प्रशिक्षण पश्चात् उन्हें प्राइवेट कंपनियों में नौकरी भी दिया जायेगा। कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला एवं पुलिस अधीक्षक श्री शलभ कुमार सिन्हा ने आज नक्सल पीड़ित परिवारों की बैठक लेकर उनकी समस्या सुनी तथा उनके निराकरण के लिए भरोसा दिलाया। नक्सल पीड़ित परिवारों से चर्चा करते हुए कलेक्टर, एसपी ने कहा कि 18 वर्ष से अधिक एवं कक्षा 8वीं उत्तीर्ण बेरोजगार युवक-युवतियों को प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए पीड़ित परिवारों से जानकारी ले लेवें तथा युवक-युवतियों का नाम, उनकी शैक्षणिक योग्यता इत्यादि का उल्लेख करते हुए सूची जिला कार्यालय को उपलब्ध करायें। इन युवाओं को लाइवलीहुड कॉलेज के माध्यम से कौशल उन्नयन का प्रशिक्षण दिया जायेगा, तत्पश्चात उन्हें नौकरी भी दी जायेगी। नक्सल पीड़ित परिवारों के अध्यक्ष जी.आर. विश्वकर्मा ने जिला प्रशासन द्वारा किये जा रहे इस पहल पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे उनके परिवार के बेरोजागर युवाओं को रोजगार मिलेगा, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आयेगा।

    मिली जानकारी के अनुसार जिले में 302 परिवारों को नक्सल पीड़ित परिवार का प्रमाण पत्र जारी किया जा चुका है। जिले के सभी एसडीएम एवं एसडीओपी को आपस में समन्वय कर इन परिवारों की सूची का मिलान करने के निर्देश भी दिये गये हैं। उल्लेखनीय है कि जिले के नक्सल पीड़ित परिवारों को शासन की गाईडलाईन के अनुसार राशन कार्ड सहित अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध कराई गई है।

0 Response to "नक्सल पीड़ित परिवारों के बेरोजगार युवाओं को दिया जायेगा कौशल उन्नयन प्रशिक्षण, प्रशिक्षण प्राप्त होते ही मिलेगी नौकरी"

एक टिप्पणी भेजें