-->
भानुप्रतापपुर में खुलेआम बिक रही ओवररेट शराब

भानुप्रतापपुर में खुलेआम बिक रही ओवररेट शराब

 

संतोष बाजपेयी ब्यूरो प्रमुख कांकेर- भानुप्रतापपुर नगर के दोनों शराब दुकान अंग्रेजी व देसी में कालाबाजारी का सिलसिला चरम पर है। जहां धड़ल्ले से शराब को निर्धारित दाम से अधिक कीमतों में ग्राहकों को बेचा जा रहा है। जानकारी के अनुसार अंग्रेजी हो या फिर देसी दोनो में प्रिंट रेट से दस से बीस रुपये अधिक दर पर बेची जा रही है। शराब प्रेमियों के अनुसार शराब की दुकानों पर जो रेट लिस्ट लगाया गया है वह दारू भी उपलब्ध नहीं रहता है। दर्जनों लोगों ने शिकायत करते हुए कहा कि शराब दुकान की रेट लिस्ट खाली दिखावेभर को लगाई गई है। इन दरों के हिसाब से कभी भी शराब नहीं बेची जा रही है। लोगों ने बताया कि नियमानुसार प्रत्येक ग्राहक को शराब खरीदी के बाद मांगे जाने पर बिल दिया जाना चाहिए, परंतु जो भी ग्राहक बिल की मांग करता है शराब दुकान के कर्मचारियों द्वारा बिल नही निकलने की जानकारी बताकर भगा दिया जाता है तथा शराब भी नहीं दी जाती है।

स्टिगर निकाल कर बेंचा जा रहा है 

भानुप्रतापपुर के शराब प्रेमियों ने बताया बोतल की स्टिगर निकालकर सेल्समैन द्वारा ओवर प्रिंट का खेल कई दिनों से चल रहा है। सेल्समैनों द्वारा जहां शराब के प्रत्येक पौव्वों पर दस से 15 रुपये, हाफ पर 20 से 25 और बोतल पर 25 से 30 रुपये तक ओवर रेट वसूला जा रहा है।

शराब की बोतलों और बियर के निर्धारित मूल्य से अधिक दाम वसूलने का खेल नगर में पिछले लंबे समय से चल रहा है। देशी शराब के क्वाटर का निर्धारित मूल्य 80 रुपया हैं जिसे 90 रुपया व अध्दा 160 हैं जिसे 180 रुपया बेचा जा रहा है। वहीं अँग्रेजी शराब दुकान में  बियर का मूल्य 210 रुपये हैं जिसे 230 रुपया बेचा जा रहा है।  अलग अलग ब्राड की शराब में प्रिंट मूल्य से अधिक के दाम लिए जाते हैं। अधिक दामों को लेकर आए दिन ग्राहकों की झड़प होती रहती है, लेकिन शराब के शौकीनों को मजबूरी में अधिक दाम देने पड़ते हैं।

0 Response to "भानुप्रतापपुर में खुलेआम बिक रही ओवररेट शराब"

एक टिप्पणी भेजें