-->
आबकारी विभाग भानुप्रतापपुर अंग्रेजी शराब दुकान पर क्यों है मेहरबान, ओवर रेटिंग का खेल अब भी जोरों पर, आखिर कब होगी कार्यवाही बड़ा सवाल?

आबकारी विभाग भानुप्रतापपुर अंग्रेजी शराब दुकान पर क्यों है मेहरबान, ओवर रेटिंग का खेल अब भी जोरों पर, आखिर कब होगी कार्यवाही बड़ा सवाल?

 संतोष बाजपेयी ब्यूरो प्रमुख कांकेर- कांकेर जिले के भानुप्रतापपुर विकासखंड मुख्यालय में स्थित अंग्रेजी शराब दुकान में खुलेआम ओवर रेट में शराब बेचकर ग्राहकों की जेब में डाका डालने का खेल आबकारी विभाग की नाक के नीचे दुकान के कर्मचारियों द्वारा किया जा रहा है। ओव्हर रेट में शराब बेचकर लाखों रुपए की अवैध कमाई की जा रही है।

👉क्या आबकारी विभाग को पता नहीं है ओवर रेट का यहा चल रहा खेल?

जिस तरह से भानुप्रतापपुर के अंग्रेजी शराब दुकान भी ओवररेट का खेल जोरों से चल रहा है क्या वह आबकारी विभाग को पता नहीं है यह सबसे बड़ा सवाल है, मंदिरा प्रेमियों का कहना है कि ओवर रेटिंग का खेल जिस तरह से खुलेआम चल रहा है क्या आबकारी विभाग और आबकारी विभाग की सूचना तंत्र इस ओर ध्यान नहीं देती हम मंदिरा प्रेमियों को इस तरह से खुलेआम यहां के दुकान संचालक द्वारा लूटा जा रहा है जो सरासर गलत है|
👉20 से ₹100 तक अधिकतम मूल्य लिया जा रहा
 एक शराब खरीदने आए व्यक्ति से उसके दाम पूछा जिसने इस बात की और पुष्टि की उससे भट्टी में पदस्थ कर्मचारियों ने पाव में ₹20 रुपए ज्यादा ले लिए जबकि बाटल में निर्धारित रेट से अधिक मूल्य में बेची जा रही है। वही शराब में  20 रु से लेकर 100 रु तक अधिक मूल्य  वसूला जा रहा है। 
आखिर कब तक होगी कार्यवाही
अब तो सबसे बड़ा सवाल यह खड़ा हो रहा है कि इस दुकान में आबकारी विभाग की कब कार्यवाही करेगी और क्षेत्र के लोगों को खुलेआम लूटने से बचा पाएगी, यह सबसे बड़ा सवाल बनकर रह गया है?

0 Response to "आबकारी विभाग भानुप्रतापपुर अंग्रेजी शराब दुकान पर क्यों है मेहरबान, ओवर रेटिंग का खेल अब भी जोरों पर, आखिर कब होगी कार्यवाही बड़ा सवाल?"

एक टिप्पणी भेजें