-->
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का भेंट-मुलाकात कार्यक्रम ग्राम मेड़ो वासियों के लिए साबित हुआ वरदान, शिकायत और हो गया समस्या का निदान, मिला 8 लाख 80 हजार रुपये का मुआवजा राशि

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का भेंट-मुलाकात कार्यक्रम ग्राम मेड़ो वासियों के लिए साबित हुआ वरदान, शिकायत और हो गया समस्या का निदान, मिला 8 लाख 80 हजार रुपये का मुआवजा राशि

 

संतोष बाजपेयी ब्यूरो प्रमुख कांकेर- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का भेंट-मुलाकात कार्यक्रम ग्राम मेड़ो वासियों के लिए भी वरदान साबित हुआ है। सीएम भूपेश तक ग्रामीणों की शिकायत पहुंचने के बाद उन्हें मुआवजा राशि मिल गया है। ग्रामीणों ने शिकायत किया थे कि लोक निर्माण विभाग द्वारा पुलिया निर्माण के दौरान उनकी जमीन को अधिग्रहण कर लिया गया है। जिसके बाद मुआवजा राशि नहीं दिया जा रहा है। ग्रामीणों ने इस बात की शिकायत ग्राम दुर्गकोंदल में आयोजित भेंट-मुलाकत चौपाल के दौरान मुख्यमंत्री से की थी, जिस पर सीएम बघेल ने तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश अधिकारियों को दिए थे। जिस पर एसडीएम भानुप्रतापपुर जितेंद्र यादव आईएएस के द्वारा गंभीरता दिखाते हुए प्रभावित को मुआवजा के लिए सम्बंधित विभाग को आदेशित किया गया। संबंधित विभाग के द्वारा त्वरित प्रभावित ग्रामीणों के लिए राशि प्रदान की गई।

किसानों को 8 लाख 80 हजार रुपये का मिला मुआवजा राशि

 जमीन अधिग्रहण मामले में मेड़ो गांव के 7 प्रभावित ग्रामीण किसानों को एसडीएम भानुप्रतापपुर के द्वारा आज 8 लाख अस्सी हजार रुपये का मुआवजा राशि चेक माध्यम से दिया गया। एसडीएम जितेंद्र यादव ने बताया कि पूर्व में दुर्गुकोंदल ब्लाक के मेड़ो गांव में कुछ ग्रामीणों की जमीन अधिग्रहण पुल निर्माण के दौरान किया गया था लेकिन ग्रामीणों को मुवाज़ा राशि नही मिल पाया था। प्रभावित किसान डेढ़ वर्ष से मुआवजा राशि के लिए इधर उधर भटक रहे थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का क्षेत्र में प्रवास के दौरान भेंटवार्ता जन चौपाल में प्रभावित ग्रामीणों ने अपनी समस्या बताये हुए निराकरण करने मुख्यमंत्री से मांग की थी।

0 Response to "मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का भेंट-मुलाकात कार्यक्रम ग्राम मेड़ो वासियों के लिए साबित हुआ वरदान, शिकायत और हो गया समस्या का निदान, मिला 8 लाख 80 हजार रुपये का मुआवजा राशि"

एक टिप्पणी भेजें