-->
कश्मीरी पंडितों को टारगेट कर मारा जा रहा कहां है मोदी का 56 इंच का सीना - कांग्रेस

कश्मीरी पंडितों को टारगेट कर मारा जा रहा कहां है मोदी का 56 इंच का सीना - कांग्रेस

 

अमृतेश्वर सिंह रायपुर- कांग्रेस ने कश्मीर में कश्मीरी पंडितों की लगातार हो रही हत्याओं पर आक्रोश व्यक्त किया है।कांग्रेस मीडिया प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि मोदी सरकार कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा देने में नाकामयाब साबित हो रही । रोज कश्मीरी पंडितों के कत्लेआम हो रहा ,कहा है मोदी को वो 56 इंच वाला सीना ? वो भी जुमला निकला ,कश्मीर में लोग रोज मारे जा रहे । कश्मीर इतिहास के सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है । कश्मीर की हवा में दहशत एवं आतंक फैल गया है ।केंद्र सरकार प्रधान मंत्री भाजपा को कश्मीर के हालात पर  देश की चिंतित जनता को जबाब देना चाहिये।

कांग्रेस संचार प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि द कश्मीर फाइल नामक पिक्चर को ले कर देश भर में बयान बाजी कर कश्मीरी पंडितों के लिए घड़ियाली आंसू बहाने वाले भाजपा के छोटे बड़े नेताओं की बोलती वर्तमान हालात पर  क्यो बन्द है ?कश्मीरी पंडितों पर जब जब भी अत्याचार हुआ पलायन की नौबत आई उसकी जिम्मेदार भाजपा ही रही है ।नब्बे के दशक में  भी जब भाजपा के समर्थन से वीपी सिंह की सरकार चल रही और जम्मू कश्मीर में  राष्ट्रपति शासन लगा था और भाजपा के नेता जगमोहन राज्यपाल तब भी कश्मीरी पंडितों पर क्रूर अत्याचार हुआ था और वे पलायन को मजबूर हुए थे । भाजपा अपने राजनैतिक स्वार्थ के लिए हिंदुओ को हथियार के रूप में उपयोग कर उनकी भावनाओं से खेलती है उसे हिंदुओ के हितों उनकी सुरक्षा से कुछ लेना देना नही है।

कांग्रेस संचार प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि देश मे पूर्ण बहुमत के साथ भाजपा की सरकार है इसके बाद भी वह कश्मीर को नहीं सम्भाल पा रही ।यह केंद्र की अकर्मण्यता है।केंद्र सरकार का यह दायित्व है कि वह कश्मीरी पंडितों की रक्षा करे और उनमें सुरक्षा की भावना जगाए ।उनकी आवाज और पीड़ा को सुना जाय। वर्तमान में चल रहे इस क्रूर हिंसा के दौर में देश के मन मे यह सवाल भी उठ रहा कि कश्मीर की सारी समस्याओं की जड़ भाजपा धारा 370 को बताती रही अब तो धारा 370 भी हट गया फिर भी स्थितियां क्यो नहीं बदल रही भाजपा को इसका जबाब भी देना चाहिये।

0 Response to "कश्मीरी पंडितों को टारगेट कर मारा जा रहा कहां है मोदी का 56 इंच का सीना - कांग्रेस"

एक टिप्पणी भेजें