-->
4th जनरेशन रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी सिस्टम, छत्तीसगढ़ के साथ ही मध्यभारत की भी पहली अत्याधुनिक टेक्नालॉजी होगी, अब मरीजो को सर्जरी के लिए महानगरों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी

4th जनरेशन रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी सिस्टम, छत्तीसगढ़ के साथ ही मध्यभारत की भी पहली अत्याधुनिक टेक्नालॉजी होगी, अब मरीजो को सर्जरी के लिए महानगरों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी

 

अमृतेश्वर सिंह रायपुर- रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल का लक्ष्य, अत्याधुनिक टेक्नालॉजी के साथ, छत्तीसगढ़ व आस पास के अंचल की जनता को उचित खर्च पर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना है। रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी के माध्यम से मरीजों को अत्याधुनिक टेक्नालॉजी के साथ ही स्पेशलिस्ट लेप्रोस्कोपिक सर्जन्स डॉ. संदीप दवे, डॉ. जव्वाद नकवी, डॉ. सिद्धार्थ तामस्कर एवं डॉ. विक्रम शर्मा की टीम के अनुभव द्वारा और भी बेहतर केयर मिलेगी। रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी सिस्टम की शुरूआत रामकृष्ण हॉस्पिटल में हो चुकी है । डॉ. दवे ने कहा कि रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी अपनी अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी व चिकित्सा सुविधाओं के कारण पूरी दुनिया में, लोकप्रिय हो चुकी है, और रोबोटिक सर्जरी की शुरूआत छत्तीसगढ़ व पूरे मध्यभारत के लिये समाज के सभी वर्गों को अत्याधुनिक चिकित्सा उपलब्ध कराने की एक महत्वपूर्ण कोशिश है। रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी से मरीजों को होने वाले फायदों में कम समय का हॉस्पिटलाइजेशन रहता है। इसलिए बाहर से आने वाले मरीजों को समय और पैसे की बचत होती है। ऑपरेशन के लिए बड़े चीरे नहीं लगाये जाते है, बल्कि छोटे-छोटे छेद किये जाते है जिससे सर्जरी के बाद घाव के कम निशान पड़ते हैं और कम दर्द होता है। 

 लेजर गाइडेंस के कारण ऑपरेशन सटीक और सुरक्षित होता है। संक्रमण का न्यूनतम खतरा होता है। छोटे छेदों के कारण कम रक्तस्त्राव व जल्दी रिकवरी होती है। रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी की खासियत यह है कि, यह सर्जन को, ऑपरेशन किये जाते समय, उडी एच.डी. विजन के द्वारा शरीर के अंदर के ऑर्गन्स की स्पष्ट स्थिति बतलाती है, जिससे सर्जरी में आसानी होती है। रोबोटिक सर्जरी में, कोलोरेक्टल सर्जरी-कोलन व रेक्टम की एसोफेगल कैंसर, एसोफेगेक्टॉमी, गाइनेकोलॉजिकल कैंसर सर्वाइकल कैंसर, ओवेरियन कैंसर, यूटेराइन कैंसर तथा पेट की सभी प्रकार की सर्जरी, छोटी एवं बड़ी आंत के कैंसर की सर्जरी, प्रोस्टेट सर्जरी, बैरियाट्रिक / मोटापे की सर्जरी, बच्चेदानी के कैंसर की सर्जरी, थोरेसिक (छाती एवं फेफड़ा) की सर्जरी आदि की सटीक व सुरक्षित सर्जरी की जाती है। यह तकनीक रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल के सर्जन्स को सजरी में सफल परिणाम दिलाने में सहायक रहेगी। दक्षता एवं अनुभव का फायदा देने में रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल सबसे आगे है। मध्यभारत व छत्तीसगढ़ की जनता को यह सुविधा अब रायपुर में ही उपलब्ध हो रही है, अब मरीजो को ऐसी सर्जरी के लिए महानगरों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

0 Response to "4th जनरेशन रोबोटिक असिस्टेड सर्जरी सिस्टम, छत्तीसगढ़ के साथ ही मध्यभारत की भी पहली अत्याधुनिक टेक्नालॉजी होगी, अब मरीजो को सर्जरी के लिए महानगरों में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी"

एक टिप्पणी भेजें