-->
कांकेर मे कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र सिंगारभाट में अनुसंधान-प्रसार कार्यशाला का आयोजन

कांकेर मे कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र सिंगारभाट में अनुसंधान-प्रसार कार्यशाला का आयोजन


 दीपक पुड़ो ब्यरो प्रमुख छत्तीसगढ़- कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र, सिंगारभाट कांकेर एवं कृषि विज्ञान केन्द्र सिंगारभाट के द्वारा किये जा रहे अनुसंधान-प्रसार कार्य विषय पर कार्यषाला कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र सिंगारभाट में आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की छायाचित्र पर माल्यार्पण एवं द्वीप प्रज्जवलन कर अधिष्ठाता डॉ. देवशंकर एवं कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रमुख डॉ. बीरबल साहू के द्वारा किया गया। अधिष्ठाता ने कृषि महाविद्यालय में किये जा रहे अनुसंधान कार्य एवं आने वाले समय में किसानों की मांग, उनके आर्थिक उत्थान को दृष्टिगत रखते हुए अनुसंधान कार्य जैसे फसलों, सब्जियों, कंदीय वर्ग एवं व्यवसायिक फूलों की किस्मों पर कार्य करना अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को व्यवसायिक शिक्षा, अनुसंधान प्रक्षेत्र की आवश्यकता विषयों पर अपनी बात कही। 

           कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रमुख डॉ. बिरबल साहू ने क्षेत्रीय जलवायु आधारित परिस्थिति को दृष्टिगत रखते हुए स्थानीय वानिकी फल तेन्दू, जामुन पर शोध करना साथ ही शासन प्रशासन के द्वारा चलायी जा रही योजना का अध्ययन कर शोध करने की आवश्यकता पर जोर दिये। सहायक प्राध्यापक डॉ. पीयूष कांत नेताम मक्का फसलों पर फाल आर्मीवर्म कीड़े द्वारा फसल क्षति पर किये जा रहे कार्यों का उल्लेख किया। सहायक प्राध्यापक डॉ. फूलसिंग मरकाम ने सीताफल की प्रक्षेत्र में स्थापित किस्मों की विशेषता, सीताफल से निर्मित प्रसंस्करण कार्य जैसे पल्प तैयार करना, आइस्क्रीम, प्रक्षेत्र में आलू के किस्मों पर मूल्यांकन कार्य, मिर्च की किस्मों की विशेषताओं पर अनुसंधान कार्य एवं फूलों के व्यवसायिक किस्म जैसे एक किस्म पौधे पर तीन रंग के फूल पौधे तैयार करने से संबंधी कार्यों के संबंध में जानकारी प्रदान किया गया। सहायक प्राध्यापक डॉ. प्रमोद कुमार नेताम ने चतुर्थ वर्ष के छात्र-छात्राओं द्वारा किसानों के बीच में कार्य अनुभव के द्वारा किये गये गतिविधियों को रखते हुए मशरूम उत्पादन, मशरूम बीज (स्पान) एवं सब्जियों के किस्मों के प्रदर्शन से संबंधित कार्य योजना के संबंध में जानकारी प्रदान किये। कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ. सुरेष मरकाम, डॉ. डी. सूर्यम डोरा, डॉ. सी.एल. ठाकुर व डॉ उपेन्द्र नाग ने किसानों के प्रक्षेत्र में किये जा रहे तकनिकों का ट्रायल, प्रदर्शन, प्रशिक्षण एवं प्रसार गतिविधियों के संबंध में जानकारी दिए। श्री अनिल कुमार उसेण्डी सहायक ग्रंथपाल ने महाविद्यालय में स्थापित पुस्तकालय में उपलब्ध विषयों की जानकारी एवं भविष्य के योजना से अवगत कराते हुए कार्यशाला में दिये गये सुझावों को कार्य योजना में शामिल, नवीन शोध एवं प्रसार कार्यों को शुरूआत कर किसान हित में उनके आर्थिक एवं परिवार हित में जिला स्तर पर पहुंचाने का प्रयास किया जायेगा।

0 Response to "कांकेर मे कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र सिंगारभाट में अनुसंधान-प्रसार कार्यशाला का आयोजन"

एक टिप्पणी भेजें