-->
डॉ. संजय कन्नौजे मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने, अधिकारियों को निर्देशित किया पंजीकृत परिवारों काम की मांग किये तो अधिकमत 15 दिवस में रोजगार प्रदान किया जाना आवश्यक है, वर्तमान में जिले में 4985 मनरेगा के मजदूर कार्य कर रहे है

डॉ. संजय कन्नौजे मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने, अधिकारियों को निर्देशित किया पंजीकृत परिवारों काम की मांग किये तो अधिकमत 15 दिवस में रोजगार प्रदान किया जाना आवश्यक है, वर्तमान में जिले में 4985 मनरेगा के मजदूर कार्य कर रहे है

दीपक कुमार पुड़ो @ 
कांकेर - पंचायत व ग्रामीण विकास विभाग द्वारा जारी निर्देशानुसार नोवल कोरोना के संक्रमण से बचाव  एवं नियंत्रण हेतु  सोशल डिस्टेसिंग के पालन के लिये महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंण्टी योजना (मनरेगा) के अन्तर्गत व्यक्तिमूलक कार्य और आजीविका संवर्धन तथा बाड़ी विकास के कार्यो को प्रमुखता से स्वीकृत कराकर प्रारंभ कने के निर्देश दिये गए हैं, जिसका पालन सुनिश्चित करने के लिए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे ने जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया है।
जिला पंचायत के सीईओ ने सभी जनपद सीईओ व पीओ नरेगा को पत्र लिखकर व विडियो कान्फ्रेस के माध्यम से निर्देश दिया कि कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन के दौर में ग्रामीणों की आजीविका सुरक्षित करना जरूरी है। इसलिए कोरोना वायरस से बचाव के सभी सुरक्षात्मक उपायां और दिशा निर्देशों का पालन करते हुए मनरेगा के कार्य चालू रखें। उन्होंने कहा कि मनरेगा ग्रामीण अर्थव्यवस्था के आधारभूत संधरकों में से एक महत्वपूर्ण संधरक है। योजना के प्रावधानों के अनुसार पंजीकृत परिवारों के वयस्क सदस्यों द्वारा काम की मांग किये जाने पर अधिकमत 15 दिवस में रोजगार प्रदान किया जाना आवश्यक है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 कांकेर जिले के लिए जिले में मनरेगा कार्य हेतु 55 लाख मानव दिवस तथा 176 करोड़ राशि का प्रावधान किया गया है। इस राशि से मनरेगा के तहत गरीब परिवारों को निजी भूमि समतलीकरण, अजीविका संवर्धन के लिये डबरी, कुंआ, मुर्गी शेड, बकरी शेड, पशु शेड, अजोला टैंक व नाडेप डेम निर्माण को पूरा किया जा सकेगा। इससे लॉकडाउन की अवधि मे ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती मिलेगी। जिला पंचायत के सीईओ डॉ संजय कन्नौजे ने बताया कि 01 अप्रैल 2020 से मनरेगा के मजदूरी की राशि 176 रूपये बढ़ाकर 190 रूपये हो गया है। वर्तमान में जिले में 4985 मनरेगा के मजदूर कार्य कर रहे है।

0 Response to "डॉ. संजय कन्नौजे मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने, अधिकारियों को निर्देशित किया पंजीकृत परिवारों काम की मांग किये तो अधिकमत 15 दिवस में रोजगार प्रदान किया जाना आवश्यक है, वर्तमान में जिले में 4985 मनरेगा के मजदूर कार्य कर रहे है"

एक टिप्पणी भेजें